Breaking News

जारी हुई कोरोना संक्रमितों की डाइट, वायरस का शिकार होने पर आप क्या-क्या खा सकते हैं

Coronavirus spread: Foods that can help boost your immunity | The ...
कोविड-19 से संक्रमित मरीजों को रोजाना 2000 कैलोरी का पौष्टिक आहार देना होगा। मधुमेह  के मरीजों को ब्रेड नहीं देनी होगी। कोरोना पॉजिटिव (corona virus positive) मरीज को केला, खट्टे फल, चावल, दही और कच्चा सलाद नहीं देना होगा। इससे उन्हें तेज खांसी आने का खतरा है। वहीं, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए हल्दी मिलाया हुआ दूध जरूर दिया जा सकता है। फल में केवल सेब ही दे सकते हैं। कटे फल तो कतई न दें। क्यों इससे कोरोना संक्रमण (corona virus infection) बढ़ने का और ज्यादा जोखिम है। इसके अलावा जिन मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव (corona negative) आ चुकी हैं, उन्हें दही, चावल, खट्टे फल और कच्चा सलाद दिया जा सकता है। कोरोना संक्रमितों को मांसाहारी भोजन देने की पूरी मनाही है।
डायटीशियन कमेटी की रिपोर्ट को देश के सभी अस्पतालों में लागू करने का आदेश- 
निजी और सरकारी मेडिकल कालेजों में बने कोरोना के अस्पतालों में पौष्टिक आहार दिए जाने का नया प्रोटोकॉल (protocol) बनाने के लिए चिकित्सा विभाग ने सभी मेडिकल कालेजों के डायटीशियन की एक कमेटी बनाई है। इसी कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार, चिकित्सा विभाग ने देश के सभी चिकित्सा संस्थानों और मेडिकल कालेजों को कोविड-19 (covid-19) मरीजों के लिए सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन और रात का भोजन देने के दिशा-निर्देश दिए हैं। 
फैकल्टी को बनाना होगा किचन कमेटी का प्रभारी-
मेरठ, सहारनपुर और आगरा के मेडिकल कालेजों में कोरोना संक्रमितों (corona infected) को गुणवत्तायुक्त खाना न मिलने की शिकायतों के बाद चिकित्सा विभाग ने यह डॉयट प्रोटोकॉल बनाया है। इस प्रोटोकॉल के तहत सभी मेडिकल कालेजों को किसी भी एक फैकल्टी के सदस्य को किचन कमेटी का प्रभारी बनाने का आदेश दिया गया कहै।
कोरोना मरीजों का ब्रेक फास्ट हैवी होना चाहिए-
जारी किए गए निर्देशों के तहत सभी तरह के खाने में खड़े गरम मसाले का प्रयोग किया जाएगा। कोरोना मरीज (corona patient) को प्रोटीन के लिए अरहर की दाल, पनीर, सोयाबरी और कार्बोहाइड्रेट के लिए आलू दी जा सकती है। मरीजों को दिया जाने वाला भोजन फाइबर युक्त होना चाहिए। इसमें राजमा, चने की दाल और गाजर की सब्जी दी जानी चाहिए। कोरोना मरीज (corona patient) का नाश्ता 800 कैलोरी का होना चाहिए। इसके अलावा जिन मरीजों को डायबिटीज नहीं है। उन्हें दलिया, उपमा, ब्रेड मक्खन, पोहा, और उबला अंडा दिया जाना चाहिए। साथ में एक कप गर्म दूध भी हो।