Breaking News

दोहरा शतक लगाने वाले इस खतरनाक बल्लेबाज पर लगा 6 साल का बैन, तबाह हो गया शानदार करियर

Shafiqullah-Shafaq-of-Afghanistan-plays-a-scoop-during-a-cricket-match©AFP
अगर आप विश्व कप का फाइनल किसी गलती की वजह से हार जाएं तो लोग आपको कुछ नहीं कहेंगे, क्योंकि क्रिकेट में ऐसा होना लाजमी है। क्रिकेटर खुद इस बात को कुछ दिन याद रखते हैं, क्योंकि किसी भी मैच में हार-जीत होना स्वाभाविक है। एक बल्लेबाज के तौर पर बिना रन बनाए आउट हो जाएं या फिर किसी गेंदबाज के खिलाफ 6 गेंदों पर 6 छक्के पड़ जाएं तो इसमें कोई बुराई नहीं है, लेकिन अगर आपने क्रिकेट के इस खेल को फिक्सिंग के जरिए कलंकित करने का काम किया है तो इसके लिए आपको सजा मिलनी चाहिए।
पाकिस्तान की टीम मैच फिक्सिंग और स्पॉट फिक्सिंग के लिए बदनाम है, लेकिन अब अफगानिस्तान के एक क्रिकेटर को भ्रष्ट गतिविधियों में लिप्त पाया गया है। अफगानिस्तान टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज शफीकउल्लाह शफाक ने क्रिकेट के इस खेल को शर्मसार किया है। मैच फिक्सिंग की वजह से अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शफीकउल्लाह शफाक को मैच फिक्सिंग में शामिल होने के कारण सभी तरह की क्रिकेट से छह साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है।
अफगानिस्तान प्रीमियर लीग यानी एपीएल टी-20 और बांग्लादेश प्रीमियर लीग (बीपीएल) के दौरान भ्रष्ट गतिविधियों की वजह से शफाक पर कार्रवाई हुई है। शफाक ने 2018 में अफगानिस्तान प्रीमियर लीग टी-20 (एपीएलटी-20) और 2019 में बीपीएल के दौरान एसीबी भ्रष्टाचार निरोधक संहिता के उल्लंघन से जुड़े चारों आरोपों को स्वीकार किया है। इस वजह से एसीबी ने उन पर कार्रवाई की है। शफाक बहुत प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। उन्होंने एक घरेलू टी20 मैच में दोहरा शतक जड़ा था।
अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शफाक पर अनुच्छेद 2.1.1 के उल्लंघन का आरोप लगाया था जो फिक्सिंग या किसी तरह से उसमें शामिल होने या अनुचित तरीके से प्रभावित करने, या किसी समझौते में पक्षकार होने से जुड़ा है। इसमें जानबूझकर खराब प्रदर्शन करना भी शामिल है। इसके अलावा शफाक पर अनुच्छेद 2.1.3 के उल्लंघन और दो अन्य आरोप लगे थे। अब उनको इस मामले में दोषी पाया गया है, क्योंकि उन्होंने बोर्ड से कुछ बातें छुपाई हैं।
30 वर्षीय शफीकउल्लाह शफाक ने अफगानिस्तान की तरफ से 24 वनडे और 46 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। उनका अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच टी-20 था जो उन्होंने सितंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ था। ऐसे में कह सकते हैं कि 30 साल के शफाक की क्रिकेट करियर लगभग समाप्त हो गया है, क्योंकि 6 साल के बाद उनके लिए वापसी करना मुश्किल हो जाएगा, क्योंकि उस समय उनकी उम्र 36 के पार हो जाएगी।