Breaking News

बड़ी खबर:10वीं और 12वीं की स्थगित परीक्षाओं के लिए नई तिथियों की घोषणा

yu78bn
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने आज कक्षा 10 और कक्षा 12 के स्थगित परीक्षाओं के लिए नई तिथियों की घोषणा कर दी है। बोर्ड उत्तर-पूर्व दिल्ली में कक्षा 10वीं और 12वीं के बचे हुए परीक्षाओं का आयोजन 1 जुलाई से 15 जुलाई 2020 के बीच करेगा। छात्र विस्तृत जानकारी के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की ऑफिशियल वेबसाइट, cbse.nic.in पर विजिट कर सकते हैं।
केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने बीते शनिवार को मीडिया से खास बातचीत में कहा कि कक्षा 10 और कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाओं को 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच कराने से छात्रों को पूरी तैयारी के लिए काफी समय मिलेगा, जिससे छात्र और भी अच्छी तरह से तैयारी कर पाएंगे। इसके साथ ही, उन्होंने कहा कि 10वीं की बची हुई परीक्षाएं (Class 10th and 12th Exam Date) सिर्फ उत्तर-पूर्व दिल्ली में ही आयोजित की जानी हैं।
इससे पहले, मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने बीते 5 मई को ट्विटर और फेसबुक पर लाइव सेशन में छात्रों से लाइव वेब इंटरैक्शन के दौरान कई छात्र द्वारा सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) की बची हुई परीक्षाओं (CBSE Exam) की तिथियों के बारे में पूछे जा रहे कई सवालों के जवाब में बताया कि तिथियों की घोषणा 2-3 दिनों में कर दी जाएगी। हालांकि, इससे पहले बोर्ड (CBSE) द्वारा 29 अप्रैल को जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाओं को लेकर कई दिनों से पुछे जा रहे प्रश्नों के जवाब में कहा था कि 12वीं और 10वीं की बची परीक्षाओं का आयोजन लॉकडाउन (Lockdown) के बाद की स्थिति के आधार पर किया जा सकता है। बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस (corona virus infection) के बढ़ते संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए रोकथाम के लिए पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया था, जिसके चलते सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) की 12वीं और 10वीं कक्षा के 83 विषयों (subjects) की परीक्षाएं (Exam) आयोजित नहीं की जा सकीं थीं।
उधर, माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश यानी यूपी बोर्ड द्वारा संचालित हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाओं पर राज्य के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा (Dr. Dinesh Sharma) ने बीते शनिवार को बताया कि कॉपियों का मूल्यांकन अब शुरु हो गया है। 5 मई से सभी ग्रीन जोन (Green Zone) के 20 जिलों में कॉपियां जांची जा रही हैं।