भारतीय टीम के पूर्व धुरंधर ओपनर गौतम गंभीर ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ मिलकर- 2011 वर्ल्ड कप में बहुत ही शानदार पारी खेली थी और वह बहुत ही अच्छे बल्लेबाज थे, लेकिन गंभीर की जुबानी है कि- मुझे महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी से ज्यादा अनिल कुंबले की कप्तानी में खेलना पसंद था।


गौतम गंभीर ने कहा कि- वैसे तो महेंद्र सिंह धोनी के नाम कई अनोखे रिकॉर्ड हैं, उन्होंने T20 विश्व कप, वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी जीताई है, वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर- बल्लेबाज भी हैं, लेकिन अनिल कुंबले की कप्तानी की बराबरी नहीं कर सकते हैं, मैं अनिल कुंबले की कप्तानी में बहुत टेस्ट मैच खेला हूं और वह बहुत ही शातिर कप्तान थे।



गौतम गंभीर ने कहा कि; महेंद्र सिंह धोनी और सौरव गांगुली ने टीम इंडिया के लिए अच्छे-अच्छे मैच जीताएं और कप्तानी से सबको चौंका दिया, लेकिन दोनों ही कप्तान अनिल कुंबले के जितने श्रेष्ठ नहीं थे, अनिल कुंबले ने भारत के लिए 14 टेस्ट की कप्तानी करी, जिसमें भारत तीन मैच जीता, तो 6 टेस्ट मैच हारा, जबकि 5 ड्रॉ हुए।



गौतम गंभीर को लगता है कि- अगर अनिल कुंबले थोड़ा समय और खेलते, कप्तान रहते तो, उनके नाम धोनी से ज्यादा अनोखी रिकॉर्ड होते और वह खूब नाम करते, लेकिन धोनी और सौरव गांगुली ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए, भारतीय कप्तान बनकर दोनों ने ही काफी बड़े-बड़े करिश्मे कर दिखाएं।


गौतम गंभीर- आईपीएल में KKR की टीम से ओपनिंग करते थे लेकिन उन्होंने रोहित शर्मा को आईपीएल का बेस्ट कप्तान बताया और कहा कि- उनकी कप्तानी में मुंबई इंडियंस चार बार आईपीएल का खिताब उठा चुकी है और शायद रोहित की कप्तानी में मुंबई दो-तीन बार और आईपीएल जीतेगी।