Breaking News

कहीं आपका पार्टनर भी तो नहीं करता आप पर बेवजह शक, हो सकती है ये बीमारी


आजकल कई रिश्ते शक-शुबहे के कारण खत्म हो जाते हैं, जबकि उनका कोई ठोस आधार नहीं होता है। कहा गया है कि पार्टनर्स का एक-दूसरे पर भरोसा करना जरूरी होता है। अगर बिना किसी वजह के आप हमेशा किसी पर शक करेंगे और उसके साथ बुरा व्यवहार करेंगे तो एक दिन वह भी परेशान हो कर रिश्ता तोड़ देने में ही अपनी भलाई समझेगा। लेकिन जो लोग शक्की मिजाज होते हैं, वे इन बातों को नहीं समझते हैं। इसका नुकसान उन्हें उठाना पड़ता है। सही व्यक्ति पर भरोसा नहीं करने के कारण अक्सर वे गलत लोगों के चंगुल में फंस जाते हैं। औरतें भी शक-शुबहे की बीमारी के कारण कई बार गलत लोगों के जाल में फसंती देखी गई हैं।
बेवजह शक नहीं करें
शक का कोई ठोस आधार होना चाहिए। अगर आपने अपने पार्टनर को किसी गलत काम में लगा नहीं पाया है या खुद से यह नहीं देखा है कि वह आपके साथ गलत व्यवहार कर रहा है या आपको धोखा देने की कोशिश में है तो उस पर शक नहीं करना चाहिए। जैसे ही आप उस पर शक करते हैं तो उसके चरित्र को संदिग्ध मानने लगते हैं। जरूरी नहीं कि ऐसा हो ही। यह भी संभव है कि आपके अच्छे रिश्ते से जो लोग जलते हों, उन्होंने उसके खिलाफ आपके कान भर दिए हों। इसलिए जब तक अपनी आंख से कोई बात नहीं देखें, बेवजह शक नहीं करें।
कुछ लोगों को होती है शक की बीमारी
साइकोलॉजिस्ट्स का कहना है कि कुछ लोगों को शक की बीमारी होती है। वे मन ही मन किसी के बारे में कुछ सोचते रहते हैं। अक्सर उनकी सोच नकारात्मक होती है। इसलिए वे किसी के बारे में बेहतर या पॉजिटिव सोच ही नहीं पाते। उन्हें अपने पार्टनर पर भी शक होता है। उन्हें लगता है कि उनका पार्टनर कहीं उन्हें बदनाम तो नहीं कर देगा।