Breaking News

अगर राहुल द्रविड़ ने उस दिन नहीं की होती ये गलती तो सचिन तेंदुलकर के बाण होता एक और दोहरा शतक


2004 की बात है भारत और पाकिस्तान के बीच टेस्ट मैच खेला गया था । उस मैच में राहुल द्रविड़ कप्तान थे और उसी मैच में भारत की तरफ से वीरेंद्र सहवाग ने 309 रन बनाकर पहला तिहरा शतक लगाया था। इसी मैच से जुड़ा एक विवाद है जिससे संबंधित सवाल राहुल द्रविड़ से मीडिया वाले बार-बार पहुंचते रहते हैं, मगर राहुल द्रविड़ ने अब तक इसका सही जवाब नहीं दिया है।

सहवाग की शानदार पारी के बाद, सचिन ने पारी को संभाला था और 675/5 का स्कोर था, तेंदुलकर 194 रन पर नाबाद थे जब युवराज सिंह 59 रन बनाकर पांचवें विकेट के रूप में आउट हो गए।

हालांकि विकेट गिरने से पाकिस्तान के प्रशंसक उत्साहित नहीं थे, लेकिन बाद में जो हुआ वह विचित्र था। स्टैंड-इन के कप्तान राहुल द्रविड़ ने भारत की पारी को घोषित किया, यह जानते हुए कि उनकी टीम के साथी को एक अच्छा दोहरा शतक बनाने से दूर रखा गया था। सचिन को अपने कप्तान के बुलावे पर वापस ड्रेसिंग रूम में जाना पड़ा।और अपना दोहरा शतक बनाने से मात्र 6 रन दूर रह गए।

जबकि द्रविड़ की घोषणा का कारण अभी भी अज्ञात है। सचिन तेंदुलकर ने अपनी किताब में साफ किया कि घोषणा बिल्कुल उनकी दोस्ती पर असर नहीं डालती।