Breaking News

आरोग्य सेतु ऐप के बारें जानें सबकुछ, कैसे करें इस्तेमाल, क्या है इसके फायदे


शुरू में चीन ने यह समस्या छुपा कर रखी है लेकिन धीरे-धीरे यह समस्या सर्वव्यापी बनकर उभर रही है। यह कोरोनावायरस एक प्रकार का वायरस है, जो चमगादड़ के जूस पीने से फैलता है। एक दूसरे के लगातार संपर्क में आने से यह वायरस बढ़ता ही चला जा रहा है। विदेशों से लगातार लोगों के आने की वजह से ही अब इस वायरस ने भारत में भी दस्तक दे दी है। भारत के प्रत्येक राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती चली जा रही है। इस संक्रामक बीमारी के लगातार बढ़ने से सरकार ने 21 दिनों का लाॅकडाउन घोषित किया है, जिसमें प्रत्येक व्यक्ति को घर में ही रहने की सलाह दी गई है ताकि इस रोग से बचा जा सके। साथ ही सरकार द्वारा कुछ आवश्यक निर्देश भी दिए गए हैं जिससे आसानी से इस बीमारी से बचा जा सके। अपने देश को सुरक्षित रखना हम सब नागरिकों का परम कर्तव्य है। इस समस्या के समय में कुछ लोगों ने बखूबी अपनी जिम्मेदारी उठाई है, इन लोगों में डॉक्टर, नर्स, सफाई कर्मचारी, बैंकर, पुलिस प्रशासन सर्वोपरि है। संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ते रहने से जांच की जाने वाली किट की उपलब्धता कम होती नजर आ रही है। यह समस्या देश ही नहीं वरन विदेशों में भी तेजी से उभर रही है। इस समस्या से उबरने के लिए आरोग्य सेतु ऐप की खोज की गई है। जैसा की सर्वविदित है कि कोरोना वायरस की महामारी से बचना असंभव नहीं है। इसके लिए आरोग्य सेतु ऐप की खोज हुई। हाल में ही भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने आरोग्य सेतु ऐप बनाया है। यह ऐप आपको कोरोनावायरस के जोखिम से बचाने में मदद करता है। इस ऐप के माध्यम से आप इस बात का अनुमान लगा सकते हैं कि आप आपके करीब लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ है कि नहीं? कोरोना की इस लड़ाई से निपटने के लिए “आरोग्य सेतु ऐप “को गूगल प्ले स्टोर या एप्पल स्टोर से आसानी से Aarogya Setu App Download किया जा सकता है। इसके लिए मोबाइल का ब्लूटूथ ऑन होना अति आवश्यक है। अपनी लोकेशन शेयरिंग को ऑलवेज रखने पर आपके कहीं भी आने-जाने की जानकारी मिलती रहेगी। उसके बाद इस ऐप में रजिस्ट्रेशन के लिए आपकी जानकारी जैसे नाम, उम्र, लिंग आदि ली जाएगी ताकि आसानी से इस जंग से लड़ा जा सके।

यह ऐप की लोकेशन और ब्लूटूथ का इस्तेमाल कर यह जानता है कि कहीं आप संक्रमित मरीज के करीब हैं या नहीं? यदि आप संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में हैं, तो यह आपको नोटिफिकेशन भी देता है। इसके लिए हमेशा आपका ब्लूटूथ ऑन रखना पड़ेगा, तभी सही तरीके से कार्य हो सकता है। आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग करते समय लोगों के मन में यह आशंका रहेगी कि यह ऐप सुरक्षित है कि नहीं? इसके लिए आपको घबराने की आवश्यकता नहीं है। इस ऐप के साथ आपका डाटा केवल सरकार के साथ ही सांझा हो सकेगा। आपकी निजी जानकारी भी सरकार के साथ सुरक्षित रहेगी इसलिए आपको घबराने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है। आप बेफिक्र होकर इस ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर “आरोग्य सेतु” की संपूर्ण जानकारी दी थी। उन्होंने कहा कि “ज्यादा से ज्यादा देशवासी आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग करें ताकि लोगों को कोरोना से जुड़े अपडेट मिलते रहे।” कोरोना से बचने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऐप की खोज की। प्रधानमंत्री भी यही चाहते हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस संक्रामक बीमारी से बचाया जा सके। एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने देश को बचाने की हरसंभव कोशिश करें और स्वस्थ रह सकें। आरोग्य सेतु ऐप संपूर्ण देश के लिए वरदान साबित हो सकते हैं। आरोग्य सेतु ऐप के साथ हम सबको कई कई सारे फीचर भी उपलब्ध हो जाते हैं। इस ऐप मे हर राज्य के लिए हेल्पलाइन नंबर की जानकारी मौजूद रहेगी।

इसके माध्यम से यूजर अपने मन में उठने वाले सवालों का जवाब भी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने जो भी अपडेट कोरोना वायरस से संबंधित दिए हैं, वे सारे भी हम इस ऐप में आसानी से देख सकते हैं और मन मे उठने वाले सवालों को भी आसानी से दूर किया जा सकता है।” आरोग्य सेतु ऐप” 11 भाषाओं में उपलब्ध है, जिस भाषा में यूजर को सुविधा हो उसका इस्तेमाल कर जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इस ऐप में अत्याधुनिक ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी एल्गोरिदम और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग शामिल है। इस ऐप से कोरोना के संक्रमण से जोखिम का और आवश्यक होने पर संबंधित व्यक्ति या क्षेत्र को दूसरे लोगों से अलग करने सरकार को महत्वपूर्ण कदम उठाने में मदद हो सकेगी। सरकार ने हरसंभव कोशिश की है, जिससे लोगों को ज्यादा से ज्यादा राहत पहुंचाई जा सके और होने वाले बड़े खतरे से बचाया जा सके। कोरोना वायरस का खतरा बच्चों को भी रहता है क्योंकि बच्चों के रोगों के प्रति प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बनाया गया “आरोग्य सेतु ऐप “बच्चों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है। इस ऐप में कोरोना संक्रमण से बचाव और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की सुझाव भी दिए गए हैं। CBSE कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम के लिए पहले ही स्कूल बंद रखने के साथ ही बोर्ड परीक्षा रद्द करने का फैसला ले चुका है। इसमें वायरस से बचाव के तरीके शामिल किए गए हैं। प्रधानाचार्य से आरोग्य सेतु ऐप पर कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के तरीकों को अपनाने और अभिभावकों और छात्र-छात्राओं को भी इस मुहिम में शामिल करने की अपील की है, जिससे ज्यादा से ज्यादा बच्चों को फायदा मिल सके। इसके लिए आवश्यक है कि शिक्षक भी इस ऐप को मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप उपयोग करें ताकि समाज भी एक नई दिशा में कदम उठा सके, आगे बढ़ सके और जीत हासिल कर सके।
आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है। आप घर बैठे अपने मोबाइल से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कर सकते हैं।सरकार ने जरूरी सामानों के लिए दुकानों को खुला रखने के निर्देश दिए हैं। जरूरी सामान जैसे अनाज, दूध,सब्जी,फल,दवाइयां आदि की आवश्यकता जरूरतमंदों को पड़ते ही रहती है।