क्रिकेट एक टीम गेम है, और सभी देशो की क्रिकेट टीम एक कप्तान द्वारा आयोजित की जाती है. टीम के लीडर के रूप में, एक कप्तान को ध्यान रखना होता कि टीम में संतुलन कैसे बनाए रखें, चाहे वह फोकस का मामला हो या खिलाडियों से उनका सर्वोच्च प्रदर्शन निकलवाने का मामला. कप्तान को पता होना चाहिए कि मैदान पर तनाव की स्तिथि में कैसे खुद को शांत रखना है, और मैच में जीत के लिए ख़ास रणनीतियों पर कैसे अमल करे.
आज हम बात करने जा रहे हैं वर्ल्ड कप के 7 सफल कप्तानों के बारे में जिनकी अगुवाई में उनकी टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है।

7- क्लाइव लॉयड
क्लाइव लॉयड ने 3 बार (1975, 1979 और 1983) वर्ल्ड कप में वेस्टइंडीज टीम का नेतृत्व किया था। उन्होंने शुरुआती 2 वर्ल्ड कप में अपने टीम को खिताब भी दिलाई। साल 1983 में भी वेस्टइंडीज टीम ने फाइनल तक का सफर तय किया था जिसमें उसे भारत के खिलाफ 34 रन से हार का सामना करना पड़ा था। क्लाइव लॉयड के अलावा अन्य कोई भी कैरिबियाई कप्तान वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीत पाया है। क्लाइव लॉयड ने अपने वर्ल्ड कप करियर में 17 मैचों में कप्तानी की थी जिसमें उन्हें 15 मैचों में जीत हासिल हुई थी।
6. कपिल देव
भारत आज भले ही दुनिया की सबसे बेहतरीन टीम मानी जाती हो। लेकिन इस मुकाम तक पहुंचाने में कई पूर्व भारतीय क्रिकेटरों की महती भूमिका रही है। विश्व क्रिकेट जगत में टीम इंडिया को प्रतिष्ठित स्थान तब मिला जब साल 1983 में भारतीय टीम ने विश्व चैंपियन वेस्टइंडीज को हराते हुए विश्व कप पर अपना कब्जा जमाया।
उससे पहले तक भारतीय टीम की स्थिति ठीक वैसी ही थी, जैसी आज बांग्लादेश क्रिकेट की है। लेकिन साल 1983 के विश्व कप में भारतीय खिलाड़ियों ने एक नया इतिहास लिखा। विश्व कप में मिली ऐतिहासिक सफलता के पीछे कपिल देव की सबसे बड़ी भूमिका थी।
5. डैरेन सेमी
जिस तरह 80 के दशक में एक दिवसीय क्रिकेट में वेस्टइंडीज की सबसे खतरनाक मानी जाती थी उसी तरह 2010 के बाद टी20 क्रिकेट में वेस्टइंडीज की धाक सबसे ज्यादा हो गई। वेस्टइंडीज की टीम के कप्तान डेरेन सैमी ने साल 2012 और साल 2016 में टीम के कप्तानी करते हुए आईसीसी टी20 विश्वकप का ख़िताब अपनी टीम को जिताया था। वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डेरेन सैमी एकमात्र ऐसे कप्तान है जिन्होंने अब तक दो बार आईसीसी टी20 विश्व कप का खिताब जीता है।
4. अर्जुना राणातुंगा
अर्जुना राणातुंगा के नेतृत्व में श्रीलंका टीम ने 1996 में वर्ल्ड कप का खिताब जीता था। अर्जुना राणातुंगा श्रीलंका क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल कप्तान हैं। मुथैया मुरलीधरन जैसे गेंदबाज को आगे बढ़ाने का श्रेय राणातुंगा को ही जाता है। अर्जुना राणातुंगा ने वर्ल्ड कप इतिहास में श्रीलंका की ओर से 11 मैचों में कप्तानी किया है जिसमें उन्हें 8 मैचों में जीत हासिल हुई है।
3. धोनी
भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने लगभग 10 सालों तक भारतीय टीम की कप्तानी की है। जिसमें उन्होंने काफी महानतम रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। उन्होंने अपनी कप्तानी में भारतीय टीम को कुल 175 मैचों में जीत दिलाई है और इसके साथ ही भारतीय टीम को दो बार विश्व वर्ल्ड कप की विजेता भी बनाया है।
महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय टीम को पहली बार साल 2007 में हुए टी20 विश्वकप में जीत दिलाई थी वहीं दूसरी बार महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2011 में हुए आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में भारतीय टीम को 28 साल बाद ट्रॉफी दिलाई थी.
2. रिकी पोंटिंग
ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज रिकी पोंटिंग जिनके सामने बड़े- बड़े दिग्गज भी आने से डरते थे। सफल कप्तानों की इस लिस्ट में ये क्रिकेटर सबसे आगे हैं। रिकी पोंटिंग 1995 से 2012 तक ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रहे। उन्होंने अपनी टीम को टेस्ट मैच और वनडे मैच मिलाकर 220 मैचों में जीत दिलाई है। बता दे रिकी पोंटिंग के कप्तानी कार्यकाल को ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का गोल्डन पीरियड कहा जाता है।
1. इमरान खान
क्रिकेट की पिच से उतरकर पिछले ही दिनों पाकिस्तान के वजीर-ए-आज़म बने इमरान खान अपने सफल नेतृत्व और साकारात्मक छवि के लिए जाने गए हैं. इमरान खान ने क्रिकेट के मैदान पर कई शानदार रिकॉर्ड अपने नाम किए.
पाकिस्तान क्रिकेट के इतिहास में इमरान खान एकमात्र ऐसे कप्तान हैं, जिनके नेतृत्व में टीम विश्व चैंपियन बनी है. जी हां, इमरान खान ने साल 1992 में अपनी टीम पाकिस्तान को विश्व कप जीताया था. विश्व कप 1992 के फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 22 रनों से हराकर विश्व कप का खिताब जीता था.