Breaking News

कोरोना ने गिरा दी मुर्गे की औकात, अब तो दुकानदार जंगल में छोड़ रहे हैं जिन्दा मुर्गे


कोरोना वायरस के चलते दुकानदारों ने बिक्री न होने पर ज़िंदा मुर्गों को जंगल में फेंका।
 
 
कोरोना वायरस के कारण विश्व भर में मच रहे कोहराम से तो हम सभी भलीभांति परिचित हैं लोगों के काम ठप्प होते जा रहे हैं देखा जाए तो इसका सबसे ज्यादा प्रभाव चिकन और मटन बेचने वाले दुकानदारों पर पढ़ रहा है हालत यह हो गई है कि इनके पास मुर्गों को दाना पानी खिलाने के भी पैसे नहीं हैं जिससे कि एक वक़्त की रोटी के भी लाले पड़ रहे हैं।

 
 
झारखंड के रामगड़ और हजारीबाग सीमावर्ती क्षेत्र के एक गाँव की यह खबर जानकर शायद आपको हैरानी होगी कि इन सभी मुश्किलों के चलते चिकन बेचने वाले दुकानदारों ने बिक्री कीमतों में भी कटौती की है लेकिन उससे भी कोई खास फायदा नहीं हुआ इन दुकानों पर कोई भटकता भी नहीं है जिसके चलते इन्होने बाज़ार से मुर्गों की खरीद भी बंद कर दी है और अब हालत यह हो गई है कि सभी दुकानदारों ने सैंकड़ों जीवित मुर्गों को जंगल में लेजाकर फेंक दिया जिसके बारे में पता चलते ही पास के इलाकों के निवासियों ने मुर्गों को लूटना शुरू कर दिया।

 
 
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को प्रभाव को देखते हुए लोग अपने हिसाब से अपनी सुरक्षा करने में जुटे हुए हैं जिससे कि कई लोगों ने अपने घरों से बाहर निकलना कम कर दिया है और कई लोगों ने अपनी विदेश यात्रा भी रद्द कर दी है और कई राज्यों में जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है लेकिन इस वायरस का सबसे ज्यादा प्रभाव चिकन और मटन की बिक्री करने वाले दुकानदारों पर देखने को मिल रहा है।