Breaking News

जिस रात निर्भया के साथ दरिंदों ने खेला था हैवानियत का खेला उस रात बस में ये शक्स भी था वहां मौजूद


निर्भया केस : ये है वो लड़का जो उस रात निर्भया के साथ था, जानिए क्या हुआ था उस रात
 
 
दोस्तों आखिकार निर्भया को इन्साफ मिल ही गया। आज इस फैसले का जितना बेसब्री से निर्भया की मां इंतजार कर रहीं थी, उतनी ही बेसब्री उस दोस्त के अंदर भी थी जो उस रात निर्भया के साथ था। दोस्तों आज हम आपको निर्भया के उस दोस्त के बारे में बताने जा रहे है।
निर्भया के दोस्त की हो चुकी है शादी
16 दिसंबर 2012 की रात निर्भया के साथ उनका दोस्त 'अवनींद्र' था। यूपी के गोरखपुर के रहने वाले अवनींद्र का परिवार तुर्कमानपुर में रहता है और उनके पिता भानु प्रताप पांडेय शहर के जाने-माने वकील है। वो कहते हैं, "इस घटना को 7 साल हो गए हैं और बेटे को संभालने में चार साल लग गए। किसी तरह से उसे इस सदमे से बाहर निकाला। तीन साल पहले उसकी शादी करा दी। आज उसका 2 साल का बेटा भी है और वर्तमान में वो अपनी फैमिली के साथ विदेश में रहता है। प्राइवेट कंपनी में इंजीनियर के पद पर तैनात है लेकिन अवनींद्र हमेशा से यही चाहता था कि निर्भया के दोषियों को फांसी हो"।

 
 
निर्भया कांड के बाद दोस्त को सताता था ये दर्द
भानु कहते हैं, निर्भया के बारे में बेटा कहता था कि हर पल एक दर्द सताता है कि दोस्ती अधूरी रह गई और हर पल साथ देने का वादा टूट गया। काश, मैं उसे बचा पाता। कहीं न कहीं दिल में ये बात चुभती है कि काश राजधानी पहले जागी होती तो वो हमारे बीच होती। बेटे कहता था कि एक सुकून है कि कम से कम उसके बहाने ही सही देश के कानून में कुछ बदलाव और जनता में जागरूकता तो आई।

 
 
क्या हुआ था उस रात
16 दिसंबर 2012 की रात बस का ड्राइवर 'राम सिंह' खुरापात करने का प्लान बनाता है और उसके साथ मुकेश, अक्षय, पवन, विनय और एक नाबालिग भी थे। सभी लोग बस लेकर रविदास कैंप से निकलते हैं और बस मुनिरका बस स्टैंड पहुंचती है, जहां निर्भया और उसका दोस्त अवनींद्र खड़े थे। बस से नाबालिग आवाज लगाता है, 'पालम, नजफगढ़, द्वारका'. पालम जाने का किराया पूछकर निर्भया और अवनींद्र बस में बैठ जाते है।

 
 
पैसे लेते समय एक आरोपी निर्भया पर बुरी नजर डालता है, जिसपर अवनींद्र इसका विरोध करता है। बस में सवार सभी आरोपी उसे जमकर पीटते है। डरकर अवनींद्र सीट के नीचे छुप जाता है और उसके बाद सभी आरोपी बारी-बारी निर्भया के साथ हैवानियत करते है। महिपालपुर में निर्भया और अवनींद्र को बस ने नीचे फेंक आरोपी फरार हो जाते है।
दोस्तों, वैसे आप उन दोषियों के बारे में क्या करना चाहते हैं? हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं और आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।