Breaking News

इस राज्य की सरकार ने छात्रों लिया बड़ा फैसला, लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी नहीं देना पड़ेगा एग्जाम


इस राज्य में बिना परीक्षा दिए पास होंगे छात्र, लॉक डाउन के बीच सरकार ने लिया बड़ा फैसला
 
 
मोदी सरकार ने कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन करने का ऐलान किया जा चुका है। वहीं वायरस के डर से पहले ही भारत के सभी स्कूल- कॉलेज बंद कर दिए गए थे और परीक्षाएं भी रोक दी गई थी। अब इस राज्य में बिना परीक्षा दिए ही विद्यार्थी पास होंगे, देश में लागू लॉक डाउन के बीच राज्य सरकार ने यह फैसला लिया है। इसके तहत बिना पेपर दिए ही नर्सरी से लेकर कक्षा 8 तक के छात्र पास कर दिए जायेगे। आइए जानते हैं कि यह फैसला किस राज्य सरकार ने लिया है।

यह राज्य पहले ही उठा चुके हैं कदम...


 
 
कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए आने वाले कुछ हफ्तों में कोरोना वायरस के खतरे के कारण स्थगित हो चुकी परीक्षाओं को कराया जाना संभव नहीं है। आपको बता दें, दिल्ली सरकार से पहले महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, पांडुचेरी और केंद्रीय विद्यालय कक्षा आठ तक के छात्रों को उत्तीर्ण करने का ऐलान कर चुके हैं।

अब दिल्ली सरकार ने उठाया कदम...


 
 
छात्रों का 1 साल बर्बाद न हो जाए, इसके लिए दिल्ली राज्य ने बड़ा कदम उठाते हुए बिना पेपर दिए ही कक्षा नर्सरी से लेकर कक्षा 8 और तक के छात्रों को पास करने का फैसला किया है। दिल्ली सरकार ने ऐलान किया है कि शिक्षा के अधिकार व "फेल ना करने की नीति" के तहत यह कदम उठाया गया है। कक्षा 9 के छात्रों के लिए इस संदर्भ में दिल्ली सरकार सीबीएसई से बात भी कर रही है। इसके अलावा शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने ऐलान किया कि, 'कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए हमने ऑनलाइन क्लासेस का इंतजाम किया है। अप्रैल से ये क्लासेस शुरू होंगी। स्टूडेंट्स को डाटा पैक खरीदने के लिए पैसे भी दिए जाएंगे। अगर जरूरत पड़ेगी तो टीवी चैनलों के माध्यम से भी हम अलग अलग विषयों की क्लास लेने की तैयारी कर रहे हैं।'
आपको क्या लगता है, दिल्ली सरकार का ये फैसला सही है या नहीं? आपनी राय कमेंट करके हमें जरूर बताइए और न्यूज़ लाइक व शेयर कीजिए।